Thursday, November 15News That Matters

दिल्ली

DUSU में ABVP का डंका, 3 सीटों पर कब्जा, NSUI को सिर्फ एक सीट

DUSU में ABVP का डंका, 3 सीटों पर कब्जा, NSUI को सिर्फ एक सीट

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ (DUSU) चुनावों में एक बार फिर ABVP ने जीत का परचम लहराया है. ABVP ने डूसू चुनाव में तीन पदों पर जीत दर्ज की है वहीं, NSUI को सिर्फ एक सीट पर जीत हासिल हुई है. इसके अलावा एक गठबंधन में लड़े लेफ्ट और आम आदमी पार्टी की छात्र इकाई को डूसू चुनाव से खाली हाथ लौटना पड़ा है. अध्यक्ष पद पर ABVP उम्मीदवार अंकित बसोया ने जीत दर्ज की है. इसके अलावा उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव के पद पर भी ABVP की जीत हुई है. वहीं, NSUI के खाते में सिर्फ सचिव पद आया है. डूसू उपाध्यक्ष पद पर ABVP से शक्ति सिंह, सचिव पद पर NSUI से आकाश चौधरी और संयुक्त सचिव पद पर ABVP की ज्योति चौधरी ने जीत दर्ज की है. इससे कुछ घंटे पहले 'ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी' होने पर मतगणना रुक गई थी और संगठनों ने हंगामा किया था. ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी के बाद, कांग्रेस से जुड़े संगठन एनएसयूआई ने नये सिरे से चुनाव करान
निर्भया गैंगरेप केस के सभी दोषियों की फांसी की सजा बरकरार, SC ने खारिज की याचिका

निर्भया गैंगरेप केस के सभी दोषियों की फांसी की सजा बरकरार, SC ने खारिज की याचिका

साल 2012 में दिल्ली में हुए निर्भया गैंगरेप केस में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. इस केस के चार आरोपियों में से तीन की याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज करते हुए उनकी फांसी की सजा बरकार रखी है. फैसले से पहले निर्भया का परिवार अपने वकील के साथ कोर्ट में पहुंचा था. निर्भया के माता-पिता ने कड़ी से कड़ी सजा देने की अपील की थी. Live Updates:- - निर्भया की मां आशा देवी ने कहा, 'हमारा संघर्ष अभी खत्म नहीं हुआ है. इंसाफ मिलने में देरी हो रही है. इससे समाज की अन्य पीड़िताएं प्रभावित होती हैं. दोषियों को जल्द से जल्द फांसी पर लटकाना चाहिए, ताकि निर्भया को न्याय मिल सके.' - निर्भया के परिवार के वकील रोहन महाजन ने कहा, 'यह हमारे लिए विजयी क्षण है. हम फैसले से संतुष्ट हैं. केंद्र सरकार से अनुरोध है कि वह आगे की प्रक्रिया को यथाशिघ्र पूरा करे, ताकि हमें इंसाफ जल्द से जल्द मिल सके.'
बुराड़ी कांडः यहां से खरीदे थे मौत के फंदे, सीसीटीवी से खुलासा

बुराड़ी कांडः यहां से खरीदे थे मौत के फंदे, सीसीटीवी से खुलासा

दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में एक अहम खुलासा हुआ है. 'आज तक' की टीम उस दुकान तक जा पहुंची, जहां से इस परिवार ने अपने लिए मौत का सामान खरीदा था. यानी फांसी लगाने के लिए दुपट्टे और चुन्नी खरीदी थी. इन्हीं में से एक दुपट्टा जो भुवनेश के गले मे था, वो बुराड़ी इलाके की ही एक दुकान से खरीदा गया था. भुवनेश के गले मे पड़े महरून रंग के दुप्पटे की पहचाना करने वाली महिला ने बताया कि घटना से तकरीबन हफ्ते 10 दिन पहले भाटिया परिवार की चश्मे वाली लड़की (नीतू) उनकी दुकान पर आई थी और 1 या 2 दुपट्टे खरीदकर गई थी. क्राइम ब्रांच की टीम ने जब इस महिला को लाशों के गले मे पड़े दुपट्टों की पहचान करवाई तो उन्होंने भुवनेश की लाश के गले में पड़े महरून रंग के दुपट्टे की पहचान कर ली. बुराड़ी में ही बीके शूज़ नाम से जूतों की दुकान चलाने वाले महेंद्र पाल की दुकान पर क्राइम ब्रांच क